भा. कृ. अनु. प.-केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान,शिमला 

संस्थान के क्षेत्रीय अनुसंधान केन्द्र

संस्थान के क्षेत्रीय अनुसंधान केन्द्र

 

यह संस्थान शिमला शहर के बीचोबीच, बैमलोई के निकट, शिमला बस स्टैंड़ से लगभग 4 किमी. तथा शिमला रेलवे स्टेशन से लगभग 6 किमी. की दूरी पर, राष्ट्रीय राजमार्ग 24 पर स्थित है। यह संस्थान समुद्र तल से 2000 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है तथा यहां की जलवायु शीतोष्ण एवं नमीयुक्त है। यहां पर वार्षिक वर्षा/बर्फबारी लगभग 1500 मिलीमीटर होती है जिसमें 1252 मिलीमीटर वर्षा के रूप में प्राप्त होती तथा शेष बर्फबारी के रूप में प्राप्त होती है। शरद् ऋतु के मौसम में यहां का न्यूनतम एवं अधिकतम तापक्रम -2 डिग्री सेंटीग्रेड से 15 डिग्री सेंटीग्रेड तक रहता है जबकि ग्रीष्म ऋतु के मौसम में क्रमशः यह 18 डिग्री सेंटीग्रेड से 28 डिग्री सेंटीग्रेड तक रहता है। कुफरी, शिमला-रामपुर राजमार्ग पर बैमलोई से 17 किमी. की दूरी पर स्थित है। प्रारम्भ में, केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान के केवल तीन अनुसंधान केन्द्र- शिमला, कुफरी एवं भुवाली में थे। वर्तमान में, देश के आलू उत्पादक क्षेत्रों में इसके 7 क्षेत्रीय केन्द्र हैं। ये सभी देश के विविध आलू उत्पादक क्षेत्रों जैसे- कुफरी-फागू-हिमाचल प्रदेश, मोदीपुरम- उत्तर प्रदेश, जालंधर-पंजाब, ग्वालियर-मध्य प्रदेश, पटना-बिहार, शिलांग-मेघालय एवं ऊंटी-तमिलनाडू में स्थित हैं।

  1. केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान परिसर, मोदीपुरम, मेरठ (उत्तर प्रदेश)
  2. केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान केन्द्र, जालंधर (पंजाब)
  3. केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान केन्द्र, ग्वालियर (मध्य प्रदेश)
  4. केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान केन्द्र, पटना (बिहार)
  5. केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान केन्द्र, कुफरी-फागू शिमला (हिमाचल प्रदेश)
  6. केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान केन्द्र, ऊटी (तमिलनाडू)
  7. केन्द्रीय आलू अनुसंधान संस्थान केन्द्र, शिलांग (मेघालय)